HIndi Shayari, Muskurane ki Liye Rona Padta He

HIndi Shayari, Muskurane ki Liye Rona Padta He
HIndi Shayari, Muskurane ki Liye Rona Padta He

कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है,
मुस्कुराने के लिए भी रोना पड़ता है,
यूं ही नहीं होता है सवेरा,
सुबह होने के लिए रात भर सोना पड़ता है!
शुभ रात्रि!