Shayari in Hindi, Muskurane Ki Chahat

होंठों को मुस्कुराने की हसरत नहीं रही,
कोई हमें भी चाहे, ये चाहत नहीं रही,
दिल को है यकीन की कोई ना आएगा मनाने को,
ये सोचकर अब तो रूठ जाने की आदत ही नहीं रही…

Shayari in Hindi

Rated 4.7/5 based on 268 reviews